Logo

लेख जातकीय राशिचिन्ह: मुख्य प्राणिक ऊर्जा



ज्योतिष में चिन्ह, जिन्हें राशि के नाम से भी जाना जाता है, ज्योतिष के 4 प्रमुख घटकों में से एक हैं, अन्य घटक हैं - ग्रह, भाव और योग. इनकी हुई ऊर्जा और विशेष विशेषताएँ हैं, जो हमारी व्यक्तित्व का निर्माण करती हैं यह ऊर्जाएं| ये ऊर्जाएँ उन राशियों में ग्रहों के स्थितियों द्वारा पेश की गई हैं जो राशियों के समान्तरालों की एक लब्धि हैं, जिनके माध्यम से एकल व्यक्ति के ज्योतिषीय गणना हो सकती हैं.

विशेष रूप से, जन्म के समय सूर्य का स्थान ज्योतिषीय परंपरा में एक व्यक्ति के "चिन्ह" को परिभाषित करता है. कहा जाता है कि सूर्य इसी किसी राशि में होता है जब वह धरती के दृष्टिकोण से समानानुपात में संकेत होता है. इसलिए प्रत्येक चिन्ह के लिए पारंपरिक रूप से विशेष तिथियां होती हैं, जैसा कि निम्नांकित दिखाया गया है|

इसके अलावा, महत्वपूर्ण यह कि सौर मंडल के अन्य ग्रह इस समय अन्य चिन्हों में स्थित हो सकते हैं. उदाहरण के लिए, कोई "तुला" में होने का कह सकता है जब व्यक्ति के जन्म के समय कई ग्रह मकर चिन्ह में स्थित हो सकते हैं, और इसी प्रकार से इन चिन्हों द्वारा काफी संकेत होता है| एक जन्मकुंडली को समग्रतामा व्याख्या की जानी चाहिए, और छोटी और पुराणी जन्मकुंडली की ज्योतिषीय व्याख्या के लिए विभिन्न ग्रह स्थिति मान्यताओं की जानें|

कौंडली:

  • मेष (21 मार्च - 19 अप्रैल): मेष ऊर्जामय, साहसी और प्रज्वलित होती हैं| ये पहलवानी और नेतृत्व का प्रतीक हैं|

  • वृषभ (20 अप्रैल - 20 मई): वृषभ स्थिरता, संकल्प और सुख के प्यार के लिए प्रसिद्ध हैं| वृषभ द्वारा प्रतिष्ठा और धैर्य के प्रतीक गौ माना गया हैं|

  • मिथुन (21 मई - 20 जून): मिथुन जिज्ञासु, संवादात्मक और बहुमुखी होते हैं| मिथुन के मूर्त छोरों कास्टर और पोलक्स के साथ जुड़े होते हैं, द्वित्व के प्रतीक हैं|

  • कर्क (21 जून - 22 जुलाई): कर्क सुप्तज्ञ, संरक्षक और भावुक होते हैं| इसे कैंसर के रूप में प्रतीत किया जाता हैं, जो संवेदनशीलता और संरक्षण को सूचित करता हैं|

  • सिंह (23 जुलाई - 22 अगस्त) : सिंह गर्वित, करिश्माई और आत्मविश्वासी होते हैं। वे मिथकों के सिंह से जुड़े होते हैं, जो शक्ति और उच्चता के प्रतीक हैं।

  • कन्या (23 अगस्त - 22 सितंबर) : कन्याएं विश्लेषणात्मक, सटीक और समर्पित होती हैं। वे देवी कन्या से जुड़ी होती हैं, जो पवित्रता और सेवा के प्रतीक है।

  • तुला (23 सितंबर - 22 अक्टूबर) : तुला संतुलित, सामाजिक और सौंदर्यशास्त्री होते हैं। वे संतुलन के प्रतीक तुला से जुड़े होते हैं, जो समानता और न्याय को प्रतिष्ठित करता है।

  • वृश्चिक (23 अक्टूबर - 21 नवंबर) : वृश्चिक जबरदस्ती, निश्चयी और रहस्यमय होते हैं। वे वृश्चिक से जुड़े होते हैं, जो परिवर्तन, द्विरूपता, रहस्य और शक्ति का प्रतीक है।

  • धनु (22 नवंबर - 21 दिसंबर) : धनु में साहसिक, आशावादी और दार्शनिक होते हैं। वे मानव और घोड़े के मिश्रण द्वारा प्रतिष्ठित होते हैं, जो यात्री और आध्यात्मिक खोज का प्रतीक है।

  • मकर (22 दिसंबर - 19 जनवरी) : मकर महत्वाकांक्षी, जिम्मेदार और अनुशासित होते हैं। वे बारहीं दुर्ग, जो कुदरत की खुदाई करके ऊंचाई पर बढ़ता है।

  • कुंभ (20 जनवरी - 18 फरवरी) : कुंभ विचित्र, प्रगतिशील और मानवीय होते हैं। वे ज्ञान के प्रसार के पाकर कुंभधारी से जुड़े होते हैं।

  • मीन (19 फरवरी - 20 मार्च) : मीन सहानुभूति, रचनात्मकता और अज्ञानता होते हैं। वे मत्स्य से जुड़े होते हैं, जो आलोचना गहिराई और चिन्तन का प्रतीक है।

© Arcadia 2023  -  AstroDB  -  ToS  -  साइट्स साथी  -  संपर्क